TPIN क्या होता है ? & TPIN Generation के बारे में पूरी जानकारी

नमस्कार दोस्तो आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको TIPN के बारे में बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी देंगे।ज्यादातर लोगों को यह पढ़ने में नया लग रहा होगा।कुछ लोगों के मन मे यह सवाल भी आ गया होगा कि, यह TPIN क्या होता है।इसका इस्तेमाल कहा होता है।तो चलो दोस्तो आज हम आपको TPIN के बारे में पूरी जानकारी आपको देंगे।

आज का युग यह डिजिटल युग माना जाता है।डिजिटल युग जितना अच्छा है उतना बुरा और भयानक भी है।इस डिजिटल युग मे आपका सारा डेटा ऑनलाइन रहता है।इसका एक फायदा भी है।ज्यादातर काम कुछ मिनिटों में होते है।हमे अपने पास ज्यादातर  दस्तावेज(Document)नही रखने पड़ते।उसके साथ ही एक खतरा भी होता है।हमारा ऑनलाइन डेटा चोरी होने का और इसकी वजह से हमारे दसतावेज का गलत इस्तेमाल होने का भी ज्यादा खतरा होता है।

इस डिजिटल युग मे आपके डेटा को सेक्युरिटी(security)बहुत ही आवश्यक होती है।डेटा सेक्युरिटी में Two Step Verification, One Time Password(OTP),TPIN जैसे सेक्युरिटी कोड होते है। इसकी मदद से हम अपना कोई भी डेटा सिक्योर(secure) कर सकते है।

TPIN का लॉन्ग फॉर्म

ज्यादातर लोगों को TPIN का लॉन्ग फॉर्म नही जानते। TPIN का मतलब Telephone Personal Identification Number होता है।यह TPIN सिर्फ डिमैट ट्रेडिंग एकाउंट के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

TPIN का मतलब क्या होता है

TPIN  यह शब्द पढ़ने में आपको बहुत ही अजीब लगेगा।ज्यादातर लोग TPIN क्या है यह भी नही जानते होंगे।शेयर मार्केट  Ratio के मुताबिक हमारे देश मे सिर्फ 5 प्रतीशत लोग शेयर मार्केट में डिमैट एकाउंट खोलते है।उनमें से सिर्फ 2 या 3 प्रतिशत लोग उसका इस्तेमाल करते है।इसका मतलब है कि TPIN क्या है यह सिर्फ बहुत ही कम लोग जानते है।
         TPIN यह एक महत्वपूर्ण और सेक्रेट फैक्टर है।यह सिर्फ शेयर मार्केट में रुचि रखते है वही लोगोंका पता होता है।TPIN यह पढ़ने से आपको एक idea भी आया होगा कि यह कोई पासवर्ड (password) या सेक्युरिटी पिन होगा।TIPN का इस्तेमाल सिर्फ ट्रेड(Trade)में किया जाता है।यह आपके Shares को और डेटा को सेक्युरिटी provide करता है।

TPIN कोड 6 अंकों  का होता है। पहले TPIN के अलावा कई बार POA का भी इस्तेमाल किया जाता था। आप बिना MPIN का इस्तेमाल करके   ऑनलाइन Transaction नहीं कर सकते । उसी तरह अगर आपको trade में access करना है तो इसके लिए आपके पास TPIN होना बहुत जरूरी है।

TPIN क्या होता है ?

TPIN का मतलब  telephone personal identification verification होता है।TPIN का इस्तेमाल
customer authenticity verification के लिए किया जाता है।TPIN यह  डिमैट ट्रेडिंग एकाउंट का  सिक्योरिटी का काम करता है।

TPIN कौन  जनरेट करता है ?

TPIN कोड Central Depository Services Limited (CDSL) द्वारा जनरेट किया जाता है।TPIN का उपयोग स्टॉक लेने के लिए और स्टॉक बेचने के लिए TPIN कोड का इस्तेमाल किया जाता है।

TPIN का उपयोग कहा किया जाता है

हम अपने गूगल UPI का इस्तेमाल  ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के लिए करते है।OTP का इस्तेमाल डेटा वेरिफिकेशन के लिए करते है।वैसे ही TPIN का इस्तेमाल ट्रेड(Trade) में याने की shares मार्केट के ऑनलाइन ट्रेडिंग डिमैट एकाउंट में  हमारे एसेट (asset) को सेक्युरिटी के लिए किया जाता है।

ये भी पढ़े

TPIN की सच्चाई

1)TPIN का उपयोग सिर्फ यूजर कर सकता है।इनमें ब्रोकर कुछ नही कर सकता।

2)यह 6 अंको का पासवर्ड होता है।यह आप कभी भी रिसेट कर सकते हो।

3)यह एक साथ Authorize करने पर यह  3 महीनों तक active रहता है।

4)अगर आप ट्रेडिंग करते हो तो आप अपना TPIN कभी भी चेक कर सकते हो।

5)अगर आपको TPIN नही मिला तो आप स्वयं जनरेट कर सकते हो।

TPIN Generation TPIN Meaning TPIN क्या होता है TPIN  टिपिन की जानकारी 

TPIN के फायदे

1)पहले जमाने मे शेयर का ट्रांसक्शन करने के लिए POA की जरूरत होती थी।मगर TPIN का इस्तेमाल करके शेयर खरीद और बेच सकते है

2)डिमैट एकाउंट के ट्रांसक्शन के लिए TPIN बहुत फायदेमंद होता है।

3) Withdrawal ट्रांसक्शन के लिए TPIN की आवश्यकता होती है।

TPIN Generation कैसे करे

अगर आप रोजाना ट्रेडिंग करते हो तो आपको TPIN  होना बहुत ही आवश्यक है।TPIN की शुरवात जून 2020 में हुई।TPIN जनरेट करने के लिए आपको अपने ट्रेडिंग एकाउंट पर अपना ईमेल और फ़ोन नंबर रेजिस्टर होना आवश्यक है।

TPIN Generation TPIN Meaning TPIN क्या होता है TPIN और टिपिन की जानकारी 

TPIN जनरेट करने की स्टेप्स

1) नया TPIN जनरेट करने के लिए आपको पहले https://edis.cdslindia.com इस वेबसाइड पर क्लिक करना आवश्यक है।

2)बाद में अगले स्टेप में आप अपना BO ID डाल और उसके नीचे अपना पैनकार्ड नंबर भी डाले।

3)अगले स्टेप पर next करने से आपके रेजिस्टर मोबाइल नंबर पर या ईमेल पर एक OTP आयेगा।उस OTP को उसी बॉक्स में डाले।

4)OTP  डालने के बाद आपका OTP वेरिफिकेशन होगा और आपके मोबाइल पर आपका TPIN आएगा।

मित्रो हमे उम्मीद है कि आपको हमे दी सभी  महत्वपूर्ण जानकारी पसंत आ गयी है तो लाइक करो, और अपने दोस्तों को भी शेयर करो।आपको इस डिजिटल युग मे शेयर ट्रांसक्शन के लिए TPIN अनिवार्य है।TPIN संबंधित आपका कोई भी सवाल या सुजाव हो तो आप  हमे कमेंट बॉक्स जरूर बताएं।

TPIN Generation TPIN Meaning TPIN क्या होता है TPIN  टिपिन की जानकारी 

Leave a Comment