OTP Full Form : OTP क्या होता है ? OTP की पूरी जानकारी हिंदी में

OTP Full Form : OTP क्या होता है ? OTP की पूरी जानकारी हिंदी में

नमस्कार दोस्तो आज हम इस पोस्ट के माध्यम से ओटीपी (OTP) के बारे में बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी आपके तक पहुचाएंगे।हमारे रोजाना इस्तेमाल होने वाले ओटीपी का असली काम क्या है।इनका उपयोग क्यों किया जाता है यह सब जानकारी हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से देंगे।

यह एक डिजिटल युग है।इस 21 वी शताब्दी में लोगों को इंसानो से ज्यादा मशीन और टेक्नोलॉजी से लगाव है।इस डिजिटल युग मे हर इंसान का काम बहुत ही आसान और सफल हो गया है।इसके पीछे का कारण है कि इस युग मे ज्यादातर टेक्नोलॉजी(technology)का उपयोग होने लगा इसके कारण इंसानों का सारा काम मशीने करने लगी।इससे कम समय मे ज्यादा काम होने लगा।

आजकल हम घरबैठे बहुत सारे काम करते है।ज्यादातर आजकल हम अपने मोबाइल फ़ोन से ही घर के लाइट (electricity)बिल, पानी का बिल,एक एकाउंट से दूसरे एकाउंट में मोबाइल से पैसे भेजना(money Transfer) ऑनलाइन शॉपिंग(online shopping) यह सारे काम हम घरबैठे मोबाइल से ही करते है। मगर आपने कभी यह सोचा है क्या।कोई भी transaction करने के समय आपको एक ओटीपी(OTP) का मैसेज आता है।किसी ने सोचा है क्या वह ओटीपी (OTP) क्या होता है।और क्यों दिया जाता है।OTP यह एक प्रकार का पासवर्ड ही होता है।वह सिर्फ सेक्युरिटी के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

ओटीपी (OTP) का फुल्लफॉम OTP Full Form

ओटीपी(OTP) का फुल्लफॉम one time password है।ज्यादातर ओटीपी(OTP) चार या छह अंक का होता है।OTP यह एक हमारे transaction का सेक्युरिटी कोड होता है।ज्यादातर ओटीपी(OTP) का इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांसफर या ट्रांसक्शन(Transaction) के लिए जाता है।

ओटीपी OTP क्या होता है ?

ओटीपी(OTP) यह एक ट्रांसक्शन के लिए इस्तेमाल करने वाला एक सेक्युरिटी कोड होता है।वह कोड हमे  अपने रजिस्टर मोबाइल नम्बर पर  मैसेज द्वारा मिलता है।ओटीपी(OTP) यह एक टेक्नोलॉजिकल mechanism है।OTP हमारे डेटा को सेक्युरिटी देता है।इसे हम two step verification भी कहते है।इस डिजिटल युग मे ओटीपी(OTP) का बहुत ज्यादातर उपयोग होता है।डिजिटल युग मे यह बहुत आवश्यक है।अगर ओटीपी(OTP) नही होता तो डिजिटल व्यवहार नही हो पाते।

ओटीपी(OTP)का उपयोग :-

इस डिजिटल युग मे ओटीपी(OTP)बहुत आवश्यक है।हर जगह ओटीपी(OTP)का इस्तेमाल किया जाता है।एक एकाउंट से दूसरे एकाउंट में पैसे भेजना, ऑनलाइन ट्रांसक्शन, इलेक्ट्रॉनिक बिल, मोबाइल रिचार्ज, पानी का बिल, सैलरी,इसके अलावा रेजिस्ट्रेशन के लिए भी वेरिफिकेशन के लिए सब जगह ओटीपी(OTP) का इस्तेमाल होता है।यह एक टेक्नोलॉजीकल मैकेनिज्म होता है।हमे हमारा ओटीपी(OTP) अपने रजिस्टर मोबाइल नम्बर या हमारे ईमेल (Email id) पर आता है।

ओटीपी(OTP) कैसे काम करता है:-

ओटीपी(OTP)One Time Password हमारे ट्रांसक्शन के वेरिफिकेशन के लिए इस्तेमाल होता है।यदि हमने किसी डिजिटल एकाउंट पर लॉगिन करना है तो हमे ओटीपी(OTP) की आवश्यकता होती है। हमारा कोई भी एकाउंट बनाते समय हमारे रजिस्टर मोबाइल नम्बर पे OTP आता है।यह OTP हमारी information का और डेटा का ऑनलाइन वेरिफिकेशन करता है। सफल वेरिफिकेशन के हम किसी की डिजिटल एकाउंट पर लॉगिन कर सकते है।इसके अलावा कई बार हमारे डिजिटल एकाउंट का पासवर्ड हमे याद नही रहता।तो हम Forget Password करके ओटीपी(OTP) के जरिये नया पासवर्ड जनरेट कर सकते है।Random algorithms की जरिये से ओटीपी काम करता है।इस तरह से one time password काम करता है।

One Time Password प्रमाणित करने के लिए कौन जिम्मेदार होता है:-

ओटीपी(OTP) हमेशा वेरिफिकेशन का काम करता है।कभी कभी ओटीपी(OTP) आपके लिए बहुत खतरनाक भी साबित हो सकता है।ओटीपी(OTP) प्रमाणित करने की जिम्मेदारी authentication servers के पास होती है।यह एक सॉफ्टवेर टूल के रूप में तैयार किया जाता है।यूजर को लॉगिन करते समय उनके रजिस्टर नम्बर पर OTP भेजना और वेरिफाइड करना यह authentication सर्वर का काम होता है।

OTP सुविधाजनक होता है या नही:-

One time password(OTP) बहुत ही सुविधाजनक होता है।OTP की वजह से ज्यादातर काम कम समय मे होने लगे।OTP की मदत के कारण हम मोबाइल से बिल, मनी ट्रांसफर जैसे काम कुछ मिनिट में करने लगे।इसके कारण हर काम आसान हो गया।उसके साथ ही समय की भी बचत हो जाती है।यह हमारे व्यवसाय के लिए भी बहुत फायदेमंद साबित हुआ है।One time password(OTP) का इस्तेमाल डिजिटल युग मे बहुत आवश्यक और फायदेमंद है

One time password का उदाहरण:

कई बार हम पैसे निकालने के लिए ATM(Automated Tailor Machine) में जाते है।मशीन में हम अपना कार्ड डालते है, और हमारा passwords डालते है और transaction का बटन दबाते समय हमारे रेजिस्टर मोबाइल नम्बर पर एक OTP आता है।वह OTP मशीन पर डालने से ही हमारा ट्रांसक्शन  हो जाता है।
उसके साथ ही मोबाइल रिचार्ज करते समय या किसी डिजिटल वेबसाइड पर लॉगिन करते समय हमें OTP वेरिफिकेशन के लिए भेजा जाता है।

OTP का उपयोग किन किन क्षेत्रो में किया जाता है:-

1)इंटरनेट बैंकिंग
2)ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट
3)सोशल नेटवर्किंग एंड मीडिया साइट

आपको OTP किस तरह भेजा जाता है:-

1)रेजिस्टर मोबाइल नम्बर पर SMS के जरिये: हमारे मोबाइल के रजिस्टर सिम कार्ड पर ही OTP का मैसेज आता है।

2) ईमेल(email id):Email OTP वेरिफिकेशन दूसरे OTP वेरिफिकेशन से कम सिक्योर होता हैं।
मगर OTP के लिए यह भी इस्तेमाल किया जाता है यह रजिस्टर मोबाइल पर लिंक ही होता है।

3)वॉइस कॉल (voice calling): कभी किसी कारण हमारे मोबाइल पर OTP का मैसेज नही आता तो आपको दूसरा option भी होता है ।वॉइस कॉल के जरिये आपको अपना OTP बताया जाता है।

OTP Full Form OTP One Time Password ओटीपी OTP क्या होता है 1

ये भी पढ़े

OTP Full Form OTP One Time Password ओटीपी OTP क्या होता है

OTP किसके साथ शेयर करे या नही:-

ऐसा कहते है कि हमे अपना OTP कभी भी शेयर नही करना चाहिए। OTP हर जगह आवश्यक होता है।हमे ट्रांसक्शन के संबंधित, पर्सनल वेबसाइड लॉगिन संबंधित कोई भी OTP किसी अन्य दूसरे व्यक्ति को शेयर न करे।कुछ आधारकार्ड वेरिफिकेशन, पैनकार्ड वेरिफिएड करने के समय आपको अपना OTP ई मित्र को शेयर कर सकते है।OTP शेयर के समय आपको सावधानी से कोई भी काम करना चाहिए।

OTP(One Time Password) के फायदे:-

1)इस डिजिटल युग मे OTP के कारण हर कठिन काम आसान और सफल हो गया है।

2) समय की बचत होती है।

3) मोबाइल रिचार्ज, resarvation, बिल,मनी ट्रांसफर घर बैठे कुछ मिनटों में करते है।

4)OTP के कारण हमारे डेटा को सिक्योरिटी मिलती  है।और वेरिफिकेशन भी होता है।

5) घर बैठे एक एकाउंट से दूसरे एकाउंट में पैसे कुछ मिनटों में ट्रांसफर कर सकते है।

6)हैकिंग का खतरा नही होता है।

7)OTP की मदत से हम कोई भी password  फिर से जनरेट कर सकते है।

OTP(One Time Password) के कुछ नुकसान:-

1)अगर हमने किसी अंजान व्यक्ति या इंसान को OTP बताया तो हमारे एकाउंट में से पैसे चुरा लिए जा सकते है।

2) OTP कभी भी दूसरों को शेयर मत करो।

3)  अगर आपने OTP दुसरो को शेयर किया तो आपका सारा डेटा चोरी हो सकता है।

4) सबसे ज्यादा फ्रॉड होने का खतरा रहता है।

5)आपके आने वाले कॉल में OTP मांगा तो मत दे।जाकर उस नम्बर पर आप शिकायत भी कर सकते हो।

6)हैकिंग और फ्रॉड का खतरा नही रहता।

7) एक से ज्यादा इसका उपयोग नही होता है।

8)OTP यह एक थर्ड पार्टी मैसेज होता है।

9) पैसे ट्रान्सफर पर सिर्फ OTP का इस्तेमाल होता है जो की ज्यादा secure और safe सिस्टम नही होता है।

10)Email OTP वेरिफिकेशन दूसरे OTP वेरिफिकेशन से कम सिक्योर होता हैं।

अगर आपको हमने दी गयी जानकारी पसंत आ गयी तो लाइक करे कमेंट करे और अपने दोस्तों को शेयर करे।ऐसेही महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए हमेशा  हमारे साथ जुड़े रहे।

OTP Full Form OTP One Time Password ओटीपी OTP क्या होता है

Leave a Comment