मोदी ने फिर चौंकाया, चीन से जारी तनाव के बीच लद्दाख पहुंचे; मैप के जरिए सीमा की रणनीति भी समझी

13





प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गलवान झड़प के 18 दिन बादशुक्रवार को अचानक लेह पहुंचे। यहां उन्होंने जवानों से मुलाकात की और उनका हौसला बढ़ाया। इस दौरानउन्होंने अफसरों से सीमा की स्थिति का जायजा लिया।वे मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती जख्मी सैनिकों से भी मिले।उनके दौरे की तस्वीरें…

नीमू बेसपर जवानों से मुलाकात की
मोदी ने लद्दाख स्थित नीमू बेस पर थलसेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों से मुलाकात की।उनके साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ एमएम नरवणे भी थे।मुलाकात के बाद जवानों ने 'भारत माता की जय'और 'वंदे मातरम'के नारे लगाए।

<!-- Composite Start --> <div id="M543372ScriptRootC944389"> </div> <script src="https://jsc.mgid.com/p/r/primehindi.com.944389.js" async></script> <!-- Composite End -->

सोशल डिस्टेंसिंग दिखी
प्रधानमंत्री से बातचीत के दौरान जवान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कुर्सी बैठे थे। जवानों के बीच दो गज की दूरी थी।

जवानों से आधा घंटे बातचीतकी
प्रधानमंत्री मोदी ने नीमू में करीब आधे घंटे तक जवानों से बातचीत की। बताया गया इस दौरान उन्होंने कुछ जवानों सेअपने अनुभव भी जाने।

मोदी ने 26 मिनट का भाषण दिया
नीमू में प्रधानमंत्री ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल रावत से आर्मी की स्ट्रैटेजिक तैनाती के बारे में समझा। फिर सेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों से बात की। इसके बाद जवानों को 26 मिनट का संबोधन दिया।मोदी ने कहा कि आज जिस कठिन परिस्थिति में आप देश की हिफाजत करते हैं, उसका मुकाबला पूरे विश्व में कोई नहीं कर सकता। आपका साहस उस ऊंचाई से भी ऊंचा है, जहां आप तैनात हैं।

मोदी पहले लेह पहुंचे
मोदी सुबह अचानक करीब साढ़े नौ बजे दिल्ली से लेह पहुंचे। इसके बाद नीमू बेस के लिए रवाना हुए। नीमू 11 हजार फीट की ऊंचाई पर बेहद कठिन इलाकों में से एक है। यह सिंधु के तट पर जांस्कर रेंज से घिरा हुआ है। यहां से 250 किमी दूर दक्षिणी मेंगलवान में15 जून कोचीन के सैनिकों के साथटकराव हुआ था।

मोदी सूट में नजर आए
प्रधानमंत्री अपने लद्दाख दौरे के दौरान सूट में नजर आए। वे सफेद शर्ट और ग्रे पेंट पहने थे।

मैप के जरिए स्थिति को समझा
सीडीएस बिपिन रावतने प्रधानमंत्री को लद्दाख की स्थिति को मैप से समझाया।दोनों के बीच करीब 20 मिनट तक बातचीत होती रही।

भारत-चीन सीमा विवाद पर आप ये भी खबरें पढ़ सकते हैं…

1. फ्रंट पर प्रधानमंत्री का पहुंचना हौसले का हाईडोज, इससे उन्हें असल हालात पता चलेंगे, ताकि तुरंत एक्शन ले सकें
2. गलवान झड़प के 18 दिन बाद मोदी 11 हजार फीट ऊंची फॉरवर्ड लोकेशन पर पहुंचे, जवानों ने वंदेमातरम के नारे लगाए; राजनाथ बोले- सेना का मनोबल बढ़ा
3. मोदी ने चीन और दुनिया को बताया- लद्दाख का ये पूरा इलाका भारत का है, जहां न सिर्फ सेना खड़ी है, बल्कि देश के प्रधानमंत्री भी मौजूद हैं
4. मोदी ने फिर चौंकाया, चीन से जारी तनाव के बीच लद्दाख पहुंचे; मैप के जरिए सीमा की रणनीति भी समझी
5. 5 लाइव रिपोर्ट्स से जानिए इन दिनों क्या हैं लेह में हालात, पढ़ें उनकी कहानी भी जिनके अपने गलवान में तैनात हैं

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लद्दाख के नीमू बेस पर शुक्रवार को जवानों के बीच पहुंचे। उनसे बातचीत की और उनका हौसला बढ़ाया। इस दौरान जवानों ने भारत माता की जय के नारे लगाए।



Source link