बिहार में बिजली गिरने से 25 की मौत, 17 लोग झुलसे; उत्तर प्रदेश में 19 की मौत और 23 झुलसे

38





देश के दो राज्यों में शनिवार को बिजली गिरने से 44 लोगों की मौत हो गई जबकि 40 लोग झुलस गए। एक तरफ बिहार में 25 लोगों की मौत हो गई और 17 लोग झुलस गए। वहीं उत्तर प्रदेश में ऐसी ही एक घटना में 19 लोगों की जान चली गई जबकि 23 लोग झुलस गए।

जानकारी के मुताबिक, बिहार भोजपुर के आरा में 9, छपरा में 5, सासाराम में 3, पटना, जहानाबाद, बक्सर और कैमूर में 2-2 लोगों की जान गई है। वहीं, जहानाबाद में 6, छपरा में 5, सीवान में 4 और पटना में दो लोग झुलस गए। सभी लोग खेत में काम कर रहे थे। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतकों केपरिजन को 4-4 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया गया है।

<!-- Composite Start --> <div id="M543372ScriptRootC944389"> </div> <script src="https://jsc.mgid.com/p/r/primehindi.com.944389.js" async></script> <!-- Composite End -->

इससे पहले, राज्य में गुरुवार को 28 और शुक्रवार को बिजली गिरने से 15 लोगों की मौत हो गई थी। 25 जून को 23 जिलों में बिजली गिरने से 100 से ज्यादा लोगों की जान गई थी।

यूपी: 19 की मौत, 23 झुलसे
उत्तर प्रदेश में बिजली गिरने से प्रयागराज में 10 और मिर्जापुर में 6, जौनपुर में एक और कौशांबी में दो लोगों की मौत हो गई। जबकि चारों जिलों में करीब 23 लोग झुलस गए।प्रयागराज की कोरांव तहसील इलाके के गांवों में किसान और मजदूर खेतों में धान रोपरहे थे। बारिश से बचने के लिए सभी पेड़ों के नीचे खड़े हो गए। इस बीच बिजली गिरी और 6 लोगों की मौत हो गई।

जिले के अन्य इलाकों में 4 लोगों की मौत हुई। कुल 9 लोग झुलसे हैं। मिर्जापुर के मडिहान में 4, सदर और लालगंज में एक-एक की जान गई। इन तीनों इलाकों में 10 लोग झुलस गए हैं। वहीं, जौनपुर के शाहगंज में एक की मौत हुई है। कौशांबी के सिरायू और मझनपुर में एक-एक की जान गई। दोनों इलाकों में 5 व्यक्ति झुलस गए।

तारीख मौत
4 जुलाई 25
3 जुलाई 15
2 जुलाई 28
25 जून 100
राजधानी के राजेंद्र नगर इलाके में गलियों में पानी भर गया, जिससे यहां आने-जाने वाले लोगों को भारी परेशानी हो रही है।

पटना, मुजफ्फरपुर समेत कई जिलों में भारी बारिश
पटना, मुजफ्फरपुर, भोजपुर, बक्सर, छपरा, सीवान, सुपौल समेत कई जिलों में करीब 3 घंटे तक भारी बारिश हुई। इससे जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कई जगहों पर जलभरावकी स्थिति बन गई। पटना के कंकड़बाग, राजेंद्र नगर, कदमकुआं, पटना सिटी, बोरिंग रोड, श्रीकृष्णापुरी, श्रीकृष्णा नगर, पुनाईचक औरशिवपुरी में पानी भर गया। इन इलाकों से पानी निकालने का काम तेजी से चल रहा है।

मुजफ्फरपुर में भी करीब 2 घंटे तक भारी बारिश हुई, जिससे कई इलाकों में जलभराव की स्थिति बन गई।
छपरा में भी मूसलाधार बारिश के बाद कई जगहों पर घुटनों तक पानी भर गया।

मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट
मौसम विभाग ने पटना, मुजफ्फरपुर, मधुबनी, दरभंगा, किशनगंज, कटिहार, लखीसराय, अररिया और नवादा में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा सुपौल, मधेपुरा, सहरसा, पूर्णिया, बक्सर, भोजपुर समेत 22 जिलों में 6 जुलाई तक ब्लू अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में आकाशीय बिजली गिरने और भारी बारिश की संभावना जताई गई है।

पटना मौसम विभाग के निदेशक आनंद शंकर ने कहा कि अगले 48 घंटे में राज्य के ज्यादातर हिस्से में बारिश और बिजलीगिरने की आशंका है। इस दौरान किसान खुले में जाने से बचें। बिजली चमके या गिरने की आवाज आए तो पक्के मकान में शरण लें।

बचाव का उपाय ऐप पर अलर्ट, पर ये अधिकतर लोगों के पास नहीं
लोगों को बिजली से बचाने के लिए सरकार ने पिछले साल अगस्त में अर्थ नेटवर्क कंपनी से 4 साल का करार किया था। इस कंपनी ने indravajra ऐप बनाया है, जिसे playstore से डाउनलोड कर सकते हैं। एंड्रायड मोबाइल उपभोक्ताओं को बिजली गिरने से 30-45 मिनट पहले अलार्म टोन से अलर्ट मिलता है। उन्हीं को अलर्ट मैसेज जा रहा जो बिजली गिरने वाले इलाके में मौजूद हैं और उनके मोबाइल में इंटरनेट नेटवर्क सही ढंग से काम कर रहा है। जीपीएस ऑन रहना जरूरी है। लेकिन, जागरूकता के आभाव में यह ऐप कई लोगों के पास नहीं है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


पटना में 3 घंटे तक हुई बारिश के बाद कदमकुआं में घुटनों तक पानी भर गया।



Source link